कोहरे के बीच खनिज विभाग की कार्यवाही में 4 ट्रैक्टर जब्त khargon news

मुरूम उत्खनन की अस्थायी अनुज्ञा कलेक्टर ने की निरस्त

खरगोन – शुक्रवार को सुबह सुबह तड़के करीब 5 बजे कोहरे के बीच खनिज दल ने एक बार फिर अवैध रेत परिवहन पर कार्यवाही की है। खनिज अधिकारी सावन चौहान ने बताया की गुरुवार रात को मुखबिर से महेश्वर के पीटामली में अवैध रेत परिवहन की सूचना प्राप्त हुई। खनिज अधिकारी ने खनिज निरीक्षक प्रियंका के साथ मिलकर योजना बनाई। सुबह सुबह करीब 4 बजे खरगोन से मौका स्थल के लिए निकाले। सुबह लगभग पाँच बजे ग्राम सेजगाँव में पीटामली की और से रेत से भरे 3 ट्रेक्टर भरे आ रहे थे। खनिज अधिकारी की टीम ने तीनों ट्रेक्टरों को रोक कर जानकारी ली गई। बड़वाह में सबसे पीछे वाले ट्रेक्टर ने साइड में रेत ख़ाली कर दी। खनिज दल से तीनों ट्रेक्टरों को जप्त कर थाना करही की अभिरक्षा में खड़ा करवाया।

खनिज दल कार्यवाही के बाद वापस खरगोन की और आ रही थी तभी खरगोन कसरावद रोड पर लोहारी के पास एक ट्रेक्टर लगभग 10 बजे रेत का परिवहन बिना रॉयल्टी के कर रहा था। जिसे टीम द्वारा जप्त कर थाना मेनगाँव मी अभिरक्षा में खड़ा करवाया। खनिज अधिकारी श्री चौहान ने बताया कि जब्त किए गए 4 ट्रेक्टरों में एमपी 10 एसी 0621, एमपी 10 एसी 0376, चेचिस न. 916611567628 तथा एमपी 10 ए 9783 पर मप्र खजिन (अवैध खनन, परिवहन तथा भण्डारण का निवारण) नियम 2022 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है।

अनुमति का दुरुपयोग करने पर अनुज्ञा निरस्त

मप्र ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण परियोजना क्रियान्वयन इकाई द्वारा मुरुम खनन की अस्थाई अनुज्ञा 1नवंबर 2022 को जारी की गई थी। कलेक्टर श्री कुमार पुरुषोत्तम ने अस्थाई अनुज्ञा को तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया है। ज्ञात हो कि मप्र आरआरडी ने पीएम ग्राम सड़क योजना के अंर्तगत देवली से बरुड मार्ग निर्माण के लिए पेनपुर की शासकीय भूमि खसरा क्रमांक 74 (एस) एवं सर्वे नम्बर 83 (एस) कुल रकबा 2 हें. क्षेत्र पर मुरुम/मिट्टी की अस्थाई अनुज्ञा को स्वीकृत की थी। पिछले दिनों खनिज और राजस्व विभाग द्वारा संयुक्त रूप से मुरूम उत्खनन मामले में 1 पोकलेन सहित 3 डंपरों पर कार्यवाही की गई थी। इसके बाद खनिज अधिकारी श्री सावन चौहान ने जांच कर कलेक्अर श्री कुमार को प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। खनिज विभाग के प्रतिवेदन के आधार पर कलेक्टर श्री कुमार द्वारा जारी पत्र में उल्लेख किया गया कि मुरुम का उत्खनन कर सड़क निर्माण में उपयोग ना कर अन्यत्र उपयोग किया गया है।

Leave a Comment