जल जीवन मिशन के तहत ग्रामीण सामुदायिक प्रशिक्षण कार्यक्रम संपन्न Ratlam news

रतलाम से संतोष तलोदिया की रिपोर्ट✒️✒️

प्रतिभागियों ने अपने गांव की नल जल योजना का संधारण कार्य सीखा

रतलाम – जल जीवन मिशन के तहत रतलाम में आयोजित किया जा रहा तीन दिवसीय ग्रामीण सामुदायिक प्रशिक्षण कार्यक्रम शुक्रवार को संपन्न हुआ। होटल अजंता पैलेस सभाकक्ष में आयोजित कार्यक्रम के समापन अवसर पर प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र तथा किट प्रदान किए गए। इस अवसर पर कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री पी.के. गोगादे, सहायक यंत्री श्री सुनील कुमार मीणा, जिला लेखा अधिकारी श्री मालूराम मीणा, राष्ट्रीय स्तर के मास्टर ट्रेनर श्री आनंद शर्मा, सहायक मास्टर ट्रेनर श्री कमल शर्मा, जिला जल सलाहकार श्री आनंद व्यास, श्रीमती किरण चौहान, श्रीमती सोनू राठौड़ आदि उपस्थित थे।

तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतिम दिवस प्रतिभागियों ने समीपस्थ ग्राम डेलनपुर का भ्रमण किया, नल जल योजना का अवलोकन किया। प्रतिभागियों ने देखा कि योजना क्रियान्वयन कैसे किया जाता है। संधारण, संचालन, पेयजल टंकी, पाइप लाइन, मोटर क्षमता, जल सोर्स, घरेलू कनेक्शन आदि की जानकारी प्राप्त की। अपशिष्ट प्रबंधन भी सीखा, डेलनपुर के ग्रामीणों से चर्चा की। डेलनपुर में प्रतिभागियों ने सुशासन सप्ताह के उपलक्ष में सुशासन की शपथ भी ली। प्रतिभागियों ने जल बचाने योजनाओं का समुचित संधारण करने, जलकर वसूली, प्रबंधन, जल संरचनाओं का निर्माण, अपने ग्राम को स्वजल ग्राम बनाने एवं स्वच्छ बनाने का संकल्प लिया। जिला सलाहकार श्री आनंद व्यास ने शपथ दिलाई।

डेलनपुर से लौटकर प्रतिभागियों ने अपना प्रेजेंटेशन भी कार्यशाला के समापन अवसर पर दिया। रतलाम में संपन्न तीन दिवसीय कार्यशाला में ग्राम पंचायत तीतरी, नंदलाई, डेलनपुर, भाटी बडोदिया, भैंसाडाबर, चितावद, कनेरी, आलनिया आदि ग्राम पंचायतों के सरपंच, सचिव, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं आदि उपस्थित रहे। मास्टर ट्रेनर श्री आनंद शर्मा ने नल जल योजना का संधारण, ऑपरेशन और रिकॉर्ड लेखा-जोखा संबंधित प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण का मुख्य रूप से यह था कि सरपंच, सचिव तथा अन्य व्यक्ति जो नल जल योजना से जुड़े हैं वह अपने गांव में अपनी नल जल योजना का सुनियोजित ढंग से संधारण, संचालन कर सकें। प्रशिक्षण में भाग लेने वाले प्रशिक्षणार्थियों ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि उनको बेहतर रूप से प्रशिक्षित किया गया है जिससे अपने गांव की नल जल योजना का समुचित ढंग से संधारण संचालन कर सकेंगे।

Leave a Comment