ब्लैकमेलिंग से परेशान महिला ने जहर पीकर आत्महत्या करने का प्रयास किया ।

खंडवा से कृष्णा गुप्ता 

आज पत्रकारिता क्षेत्र में भी अतिक्रमण हो रहा है। अधकचरे और कम पढ़े लिखे नौजवानों का प्रवेश हो गया है, जिसका मुख्य पेशा हो गया है भयादोहन करना, धौंस जमा कर लोगों से उगाही करना। इससे देश के चौथा स्तंभ कहे जाने वाली पत्रकारिता कि छबी धुमील होती है। ऐसे पत्रकार हमेशा प्रशासन के टारगेट में रहते हैं। इनकी मानसिकता ही नकारात्मक होती है।

आज भी लोगों को चौथे स्तंभ पर पूरा भरोसा है इसलिए पीत पत्रकारिता जैसे वायरस से समाज पर दूषित प्रभाव नहीं पड़े, इसका ख्याल रखना चाहिए। आज के नौजवान पत्रकारों से अपील किया कि क्षणिक सुख के लिए आम जनता से विश्वासघात नहीं करें और नकारात्मकता से कोसों दूर रहें।
हम सम्मान करते है उनका जिन्होंने चौथे स्तंभ की गरिमा सम्मान को अब तक बनाए रखा। समाज के हितकारी समाचारों को निर्भय होकर हमेशा प्रकाशित करते रहना है सच छुपाने वाली पत्रकारिता से कोसों दूर रहे। जिनकी सोच सकारात्मक रही है।हम ऐसे सही और सच्चे पत्रकारों के साथ है आज युग बदल गया, इसलिए हमें भी बदलना पड़ा। अब हमलोग डिजिटल युग में जी रहे हैं। हमारी पत्रकारों से अपील किया कि टीआरपी बढ़ाने के चक्कर में नहीं पड़ें, सच को निडर हो लिखें, जनता के समक्ष प्रमाणित तथ्य ही उजागर करते रहें।

ब्लैकमेलिंग से परेशान महिला ने बुधवार को जहर पीकर आत्महत्या का प्रयास किया परिजन का आरोप है कि कथित पत्रकार अंकित राठौर व संदीप शर्मा उनसे पैसो कि मांग कर रहै है

             अंकित राठौर

खबर विस्तार से 

शांतिलाल किसान के साथ साथ वन विभाग मे चौकीदार भी है शांतिलाल का मकान 17 बाई 20 फिट मे बना है उन्होंन बताया कि यहा सेकड़ो कि तादाद मे रहवासी मकान बने जिसमे लोग बरसो से निवासरत है अंकित राठौर और संदीप शर्मा अपने आपको पत्रकार बताकर हमसे रुपयो कि मांग कर रहे थे इन्होंने हमारी शिकायत सीएम हेल्पलाइन पर की है इन्होंने बताया कि तुम्हारा मकान शासकीय भूमि पर बना है अगर मकान टूटने से बचाना है तो रुपए देना पडेगे । ये हमे रुपयो के लिए परेशान कर रहे थे जिनकी शिकायत हमने 1 अक्टूबर को ही थाने पर पहुंचकर कर दिए थी परिजनो का कहना है अगर समय रहते कार्यवाई हो जाती है तो संजु (महिला) को ऐसा कदम नही उठाना पडता ।

                                   ,   आवेदन

युवको ने दि धमकी मकान टुट गया तो रोड पर आ जाओगे 

महिला के पति ने बताया कि संजु घर पर अकेली थी बेटी और बेटा पढाई के लिए स्कुल गए थे तभी सुबह-सुबह 9 बजे लगभग दो युवक मुंह पर कपड़ा बांधकर आए और कहने लगे कि अगर तुमने रुपए का इंतजाम नही किया तो आज मशीन आ रही है तुम्हारा मकान तोड देगी और तुम लोग रोड पर आ जाऔगे । रुपए का इंतजाम कर दो तो हम मशीन रुकवा देगे ।

महिला रुपए देने मे असमर्थता बताई तो मुँह पर कपड़ा बांधकर आए युवक धमकी देकर चले गए। मकान टूटने के डर से महिला ने जहर पी लिया तबीयत बिगड़ने पर परिजन अस्पताल लेकर पहुँचे।

संजु (39 वर्ष )                          संजु ( 39 वर्ष)

मामले लेकर नर्मदानगर पुलिस कहना है शांतिलाल ने शिकायती आवेदन दिया था उस पर जाँच कि जा रही है आरोप सही पाए जाने पर आरोपियो के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी ।

Leave a Comment