मनोरोगियों के उपचार हेतु जिले में होंगे विशेष प्रयास Ratlam news

• रतलाम से संतोष तलोदिया की रिपोर्ट

• मनोरोगियों की होगी समग्र देखभाल

• कलेक्टर ने बैठक में मनोरोगियों के चिकित्सकीय प्रबंधन हेतु रुपरेखा बनाई

रतलाम– जिले में विभिन्न स्थानों पर मौजूद मानसिक रोगियों की देखभाल के लिए विशेष कार्ययोजना तैयार की जा रही है। जावरा की हुसैन टेकरी शरीफ सहित अन्य स्थानों पर मनोरोगियों के लिए विशेष चिकित्सा व्यवस्था की जाएगी। परीक्षण के पश्चात् चिन्हांकित किया जाएगा कि किन मनोरोगियों को चिकित्सकीय उपचार की आवश्यकता भी है। इस सम्बन्ध में एक बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में शुक्रवार को सम्पन्न हुई जिसमें कलेक्टर श्री नरेन्द्र कुमार सूर्यवंशी, पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक तिवारी, अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिडे, मेडिकल कालेज के डीन डा. जितेन्द्र गुप्ता, एसडीएम श्री संजीव पाण्डे, जावरा एसडीएम श्री हिमांशु प्रजापति, प्रभारी सीएमएचओ डा. वर्षा कुरील, कंसलटेंट श्री रवि गौतम, डिप्टी डायरेक्टर संध्या शर्मा, डा. निर्मल जैन, डीपीएम डॉक्टर अजहर अली, डीपीओ डॉ. डी.पी. घटिया, जन अभियान परिषद के जिला समन्वयक श्री रत्नेश विजयवर्गीय, एसडीओपी जावरा श्री रविंद्र बिलवाल, हुसैन टेकरी कमेटी के सदस्य श्री सैयद नासिर अली, श्री इकबाल खान, श्री अली इसरार, श्री मोहम्मद शहजाद, श्री नसीर अहमद, श्री बाले खान आदि उपस्थित थे।

बैठक में बताया गया कि अब तक मनोरोगियों के उपचार के लिए जो किया जा रहा है उसमें और आगे बढकर जो भी बेहतर से बेहतर किया जाएगा। मनोरोगियों के साथ मानवीय व्यवहार सुनिश्चित किया जाना है। उनको समुचित उपचार के साथ-साथ और जो भी आवश्यकताएं हैं, उनकी पूर्ति की जाएगी। मनोरोगियों को जिन दवाईयों की आवश्यकता है, उसके लिए कैम्प आयोजित किए जाएंगे, विशेष क्लीनिक स्थापना के माध्यम से भी उपचार प्रबंधन होगा।

बैठक में कलेक्टर श्री सूर्यवंशी ने हुसैन टेकरी शरीफ की कमेटी के सदस्यों से चर्चा में आग्रह किया कि हुसैन टेकरी शरीफ में आने वाले जो भी मनोरोगी होते हैं, उनके समग्र उपचार हेतु प्रशासन के साथ समन्वय रखते हुए कार्य करें। राज्य मानसिक प्राधिकरण भोपाल की उपसंचालक डा. विजया सकपाल ने मानसिक रोगियों के उपचार, प्रयासों के सम्बन्ध में जानकारी दी।

डॉ. निर्मल जैन ने बताया कि सड़क पर घूमने वाले मनोरोगियों का जिला चिकित्सालय में उपचार किया गया है और वह ठीक होकर परिजनों के पास भी पहुंचे हैं। हालांकि इस प्रक्रिया में काफी मेहनत और समय भी लगा लेकिन सफल हुए।

डीन डॉ. जितेंद्र गुप्ता ने बताया कि मेडिकल कॉलेज में मनोरोगियों की चिकित्सा के लिए 15 बेड आरक्षित किए गए हैं वहां पर उनका उपचार किया जाएगा, दवाई निःशुल्क उपलब्ध रहेगी। सामाजिक सरोकार के मुद्दे को लेकर हुई बैठक में पत्रकार श्री नरेंद्र जोशी, श्री सुधीर जैन, श्री राकेश पोरवाल, श्री गोविंद उपाध्याय, श्री सुल्तान किरमानी, श्री हेमन्त भट्ट ने भी अपने सुझाव दिए।

कलेक्टर श्री नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी ने कहा कि मानसिक रोगियों को दुआ और दवा दोनों की जरुरत होती है। प्रशासन इस दिशा में संवेदनशीलता के साथ अग्रणी पहल करेगा। कलेक्टर ने कहा कि मानसिक रोगियों के परिजनों की भी काउंसलिंग की व्यवस्था की जाएगी।

पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक तिवारी ने कहा कि यह संवेदनशील मुद्दा है। सभी के प्रयास से ही पीड़ित ठीक होगा। जहां दुआ है और दवा की जरूरत है तो उपचार के भी विशेष प्रबंध किए जाने चाहिए। समन्वित कार्य से व्यक्ति और समाज को ठीक रखेंगे। बैठक में मिले सुझाव उद्देश्य को लेकर बेहतर है उन पर क्रियान्वयन होगा।

Leave a Comment