माही पंचकोशी पदयात्रा 1 फरवरी से होगी प्रारंभ तो, 31 जनवरी को निकलेगी विशाल चुनरी यात्रा

 संत भी होंगे शामिल

भारत झुंजे

धार – सरदारपुर मे क्षेत्र की प्रसिध्द माही पंचकोशी पदयात्रा का इस वर्ष आयोजन का यह निरंतर 26वाॅ वर्ष है जिसमे धार, बडवानी, खरगोन, झाबुआ, रतलाम आदि जिलो सहित अन्य प्रदेश से भी माही माता के भक्तगण शामिल होते है। दिनांक 31 जनवरी 2023 को सांय 5 बजे प्रतिवर्ष अनुसार प्राचीन माताजी मंदिर सरदारपुर से 301 फीट की विशाल चुनरी यात्रा निकाली जाएगी जो नगर के प्रमुख मार्गो से होते हुए माही नदी पर माही माता को अर्पण की जाएगी। चुनरी यात्रा मे बालीपुर धाम से संत योगेशजी महाराज और श्रृंगेश्वर धाम के संत रामेश्वरगिरीजी महाराज अपना सानिध्य प्रदान करेंगे। 01 फरवरी 2023 को सुबह 9 बजे धर्म ध्वजा एवं अखण्ड ज्योत की बोली लगने के साथ पांच दिवसीय पदयात्रा प्रारंभ होगी जो सरदारपुर नगर के प्रमुख मार्गो से फुलगांवडी, झीर्णेश्वर, कुमारपाट, पटलावदिया, टाण्डा, छिपापुरा होते हुए माही उद्गम स्थल मिण्डा पर प्रथम रात्रि विश्राम रहेगा। 02 फरवरी 2023 को यात्रा मिण्डा से निकलकर बलेडी, केली, बडोदिया, बिछिया, भोपावर, दादा नरखेडा राजगढ से होते हुए प्रसिध्द तीर्थ नरसिंह देवला पर द्वितीय रात्रि विश्राम रहेगा। 03 फरवरी 2023 को नरसिंह देवला से निकलकर भानगढ, टिमायची, झकनावदा होते हुए श्रृंगेश्वर धाम पर तृतीय रात्रि विश्राम रहेगा। 04 फरवरी 2023 को श्रृंगेश्वर धाम से निकलकर धतुरिया, कोटडा, माही डेम से होते हुए लाबरिया गौशाला पर चतुर्थ विश्राम रहेगा। 05 फरवरी 2023 को लाबरिया गौशाला से निकलकर जोलाना, बोला, पसावदा होते हुए माही तट सरदारपुर पर समापन होगा। वर्तमान मे माही नदी मे श्रृध्दालुओ के स्नान के लिए जिला कलेक्टर सहित एसडीएम, तहसीलदार, एसडीओपी, जल संसाधन विभाग के एसडीओ, नगर परिषद् सरदारपुर एवं राजगढ के सीएमओ सहित पंचकोशी पदयात्रा समिति के अध्यक्ष मनीष श्रीवास्तव एवं सदस्यगण के प्रयासो से पानी की व्यवस्था की जा रही है। यह जानकारी समिति के उपाध्यक्ष विष्णु चोधरी द्वारा दी गई।

Leave a Comment