मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाओं की इंदौर कमिश्नर ने की समीक्षा।, माइक्रो सिंचाई योजना,

खरगोन ÷  60 की बजाय अब 80 टीमें बढ़ानी होगी, कंपनी के सीईओ से सप्ताह का माइक्रो प्लान मांगा

_______मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाओं की इंदौर कमिश्नर ने की समीक्षा

__________________

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan द्वारा 14 दिसम्बर को खरगोन में की गई घोषणाओं की समीक्षा इंदौर कमिशनर ड़ॉ. पवन शर्मा द्वारा वीसी के माध्यम से की गई। भीकनगांव बिंजलवाड़ा माइक्रो सिंचाई योजना को पूर्ण कराने के मामले में गूगल मीट के माध्यम से जीवीपीआर कंपनी के सीईओ श्रीधर रेड्डी से साप्ताहिक माइक्रो प्लान मांगा गया है। दरअसल परियोजना के कार्यपालन यंत्री ने बताया कि अब समय पर पूर्ण कराने के लिए 60 नही बल्कि 80 टीमें हो तो पूर्ण होगा। टीमें बढ़ाने की स्वीकृति भी मांगी गई गई है। इस वीसी में सम्बंधित परियोजनाओं के कार्यपालन यंत्री और अधीक्षण यंत्री, बिंजलवाड़ा परियोजना के प्रोजेक्ट मैनेजर श्री रामानुज ऐलू, खरगोन सीएमओ श्रीमती प्रियंका पटेल व अन्य सभी अधिकारी जुड़े।

 

बिस्टान परियोजना में 20 दिनों में केवल 10 बॉक्स लगाए

________________________

 

समीक्षा के दौरान बिस्टान परियोजना के कार्यपालन यंत्री श्री परस्ते ने बताया कि 2074 बॉक्स लगा दिए है। अब सिर्फ 70 बॉक्स लगाना शेष है। इंदौर कमिशनर ड़ॉ. शर्मा ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि पिछली वीसी में 80 लगाना शेष बताया गया था। 20 दिनों में सिर्फ 10 बॉक्स लगाए है। कलेक्टर श्री कुमार पुरुषोत्तम ने कहा कि इस परियोजना को पूर्ण कराने के लिए एक-एक किसान से बात करने के बाद प्रगति कराई जाएगी।

 

बलकवाड़ा उदवहन सिंचाई का कार्य 31 मार्च तक पूर्ण होगा

_____________________

बलकवाड़ा उद्वहन सिंचाई परियोजना के एसडीओ श्री शिवहरे ने वीसी में जानकारी देते हुए बताया कि 500 हे.क्षेत्र में 31 जनवरी तक टेस्टिंग के बाद पानी पहुँचाया जाएगा। जबकि पूरे 2200 हे. क्षेत्र में पानी की उपलब्धता 31 मार्च तक पूर्ण करने की बात कही गई। इन परियोजनाओं के अलावा वीसी के माध्यम से कमिशनर ड़ॉ. शर्मा ने नवग्रह मंदिर के कोरोडोर, रावेरखेड़ी के उन्नयन, नर्मदा शिप्रा लिंक परियोजना और इंदौर-इच्छापुर हाइवे के कार्याे की भी जानकारी ली गई। नवग्रह मंदिर कॉरिडोर के विषय में सीएमओ श्रीमती पटेल ने बताया कि आर्किटेक्ट के टेंडर मंगवाए गए थे जो प्राप्त हो गए है। प्रोजेक्ट रिपोर्ट एक माह में प्राप्त कर पूनः टेंडर प्रक्रिया कर दी जाएगी।

 

 

Leave a Comment