हरे-भरे पेड़ को प्रशासन से बचाने की गुहार लगाते रहवासी ।मिल रहा सिर्फ आश्वासन

‘ब्यूरो रिपोर्ट-प्रकाश पंवार- पेेड़ नहीं होंगे तो कहा से लाएंंगे ऑक्सीजन व कैैसे जियेंगे  बिते कोरोना काल के दौरान ऑक्सीजन की कमी से देेश में हुई एतिहासिक जनहानी की याद दिलाती है, आम आदमी को पर्यावरण व हरियाली आकर्षित करती है साथ ही उससे मिलने वाली जड़ी-बूटी फल फुल आज की रोजमर्रा की जिंदगी मे अहम भूमिका निभाते है पर जवाबदेह व्यक्ती ही ही लापरवाह हो जाए तो आम आदमी को आगे आकर पर्यावरण को बचाने कि कोशिश करना पड रही है  जी हा हम बात कर रहै है नीम के हरे-भरे पेड़ की जी हां ऐसा नीम का पेड़ जिसका बहुत महत्व है , खबर इन्दौर की हे जहां तेजाजी नगर से IET पार्क तक की सड़क का निर्माण कार्य जारी है जिसमें सड़क किनारे पर्याप्त मात्रा में पेड़ लगे हुए है जानकारी के मुताबिक जितने भी पुरातत्व पेड़ है ‘अर्थात्‌ नीम, पीपल, बरगद व अन्य आवश्यक पेड़ो को काटने की बजाय सुरक्षित रुप से किसी सुरक्षित स्थान पर स्थापित किया जाना था लेकिन ऐसा नहीं किया गया गौरतलब है कि बहुत अधिक मात्रा में अवश्यक पेड़ो को काटा गया , स्थानिय निवासी संदीप शर्मा ने बताया की इस पेड़ को भी यहा से हटाने के प्रयास किए गये लेकिन हमने व कुछ लोगो ने इस पेड़ को यहा से ना हटाने के लिए उद्यान अधिकारी को आवेदन लिखा व मांग की यह पेड़ यहा से न हटाया जाए संंदीप ने बताया की उद्यान अधिकरी के द्वारा आश्वासन मिला की यह पेड़ यहा से नहीं हटाया जायेगा शंंदीप का कहना है सड़क का निर्माण कार्य अभी पुुरा नहीं हुआ उनहें अशंका है की कही बाद में इस पेड़ को हटाया ना जाए , संदीप ने बताया है कि इस नीम के पेड़ का जो की वर्षो पुराना है बहुत महत्व है यहा हर दिन भारी मात्रा में पशु-पक्षी व सड़क से गुजरने वाले लोग इसकी छांव में बसेरा करते है , संदीप ने कहा की उनकी मांग है उद्यान अधिकारी व नगरीय प्रशासन अधिकारी इस पेड़ को यहां से ना हटाये कहा इस नीम के पेड़ से हमें व यहां रहने वाले सभी लोगो को पर्याप्त छांव व इससे कई प्रकृतिक लाभ मिलते है ।

● माना जाता है की नीम का पेड़ बेहद लाभदायक भी होता है, जानने के लिए पढ़े पुरी खबर क्या है फायदे यहां है जानते ।

● अगर आपके घर के सामने नीम का पेड़ है तो आप वाकई बहुत भाग्यशाली है. गर्मी में ठंडी हवा देने के साथ ही यह एक ऐसा पेड़ है जिसका हर हिस्सा किसी ना किसी बिमारी के ईलाज में कारगर है ।

● नीम एक ऐसा पेड़ है जिसके तने , पत्तिया और बीज औषधी का काम करते है , देखा जाए तो गांवो में अभी भी लोग इसकी टहनियों की दातुन करते है, इसकी पत्तियों को भी बेहद खास माना जाता है ।

● नीम भारत सहित कई देशों में पाया जाता है , नीम के पेड़ से प्राप्त होने वाले बेहद खास लाभों के कारण इसे शक्तिशाली जड़ी-बुटियों वाला पेड़ भी कहा जाता है ।

● नीम में कई शक्तिशाली तत्व भी पाए जाते है , जो हमारे शरीर में होने वाली कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने में मदद करते है ।

2 thoughts on “हरे-भरे पेड़ को प्रशासन से बचाने की गुहार लगाते रहवासी ।मिल रहा सिर्फ आश्वासन”

  1. Udhyan Vibhag, Nigam Prashasan Evam Road Nirmaataa Company apane Contract evam Vaayade ke anusaar Neem, Peepal evam Bargad sahit samasta chinhit Pedon ko Punaraasthaapit kare !! Saath hi 10 gune Naveen Pedon kaa Ropan kat Hariyaali evam Paryaavaran ki Rakshaa Taya ki jaaye !!

    Reply

Leave a Comment